पतंजलि गैसहर चूर्ण के फायदे – Benefits of Patanjali Gashar Churna

पेट में अधिक गैस की समस्या एक आम समस्या है और सामान्यतः हर व्यक्ति को कभी ना कभी यह समस्या होती ही है। ज्यादा गैस बनने से पेट दर्द, आफरा आदि समस्याएं होती है। वैसे तो हमारे पेट में भोजन के पाचन के दौरान गैस बनती ही है पर अक्सर ज्यादा गैस रहना अच्छी बात नहीं है, इसका कारण पाचनशक्ति की कमी या गलत खानपान हो सकता है। सबसे पहले अपने खानपान को सही करना जरुरी है फिर बारी आती है अच्छी निर्दोष और प्रभावी दवा की। आयुर्वेद में पेट में अधिक गैस की समस्या के लिए बहुत अच्छे नुस्खे दिए गए हैं। पतंजलि आयुर्वेद ने ऐसा ही एक नुस्खा बनाया है जिसका नाम पतंजलि दिव्य गैसहर चूर्ण है। यह गैस की समस्या का प्रभावी हर्बल उपचार है।

पतंजलि गैसहर चूर्ण के फायदे – Benefits of Patanjali Gashar Churna

पतंजलि दिव्य गैसहर चूर्ण के घटक-

अजवायन

काली मिर्च

काला नमक

छोटी हरड़े

मीठा सोडा

नौसादर

शुद्ध हींग

निम्बुसत्व

जीरा

पतंजलि दिव्य गैसहर चूर्ण के फायदे –

यह चूर्ण पाचन शक्ति वर्धक है और गैस को बाहर निकालता है। अपच, कब्ज, अफारा आदि में उपयोगी है। यह प्राकृतिक रूप से पाचन शक्ति को बढ़ाता है। साथ ही यह एंटासिड भी है यानि अम्लपित्त या एसिडिटी को दूर करने में भी सहायक है। इसमें भूख बढ़ाने के गुण भी है। यह पाचनशक्ति को मजबूत बनाता है।

पेट में ज्यादा गैस बनने पर पेट में काफी भारीपन महसूस होता है, व्यक्ति ढंग से खाना पीना नहीं कर सकता है। ज्यादा गैस शरीर के अन्य अंगों जैसे हृदय आदि पर भी अनावश्यक दबाव बनाती है। यह दिव्य गैसहर चूर्ण ज्यादा गैस बनने की प्रक्रिया को नियंत्रित करता है और पेट में जमा ज्यादा गैस अपान वायु के रूप में बाहर निकालता है। 

यह भी पढ़ें: एसिडिटी या अम्लपित्त को जड़ से खत्म करने के आयुर्वेदिक उपाय – acidity ka permanent ilaj in hindi

सेवन विधि –

इसे सुबह-शाम खाने के बाद करीब आधा चम्मच गुनगुने पानी से लें या जब भी गैस की समस्या महसूस हो तब लें।

पतंजलि दिव्य गैसहर चूर्ण के साइड इफेक्ट्स –

यह चूर्ण निरापद जड़ी बूटियों से बना है अतः सामान्यतः इसका कोई साइड इफ़ेक्ट नहीं है। फिर भी अधिक मात्रा में नहीं लेना चाहिए और गैस की बहुत ज्यादा समस्या होने पर योग्य चिकित्सक से अवश्य परामर्श लेना चाहिए।

Please follow and like us: